Justbundelkhand

Category : साहित्य

साहित्य

पुस्तक समीक्षा : वर्तमान साहित्यिक परिवेश में विरल हैं ‘अकथ का आकाश’ जैसी कालजयी कृतियाँ

Just Bundelkhand
(राजकुमार अंजुम) मुझे यह कहने में किंचित भी संकोच नहीं कि आलोचना साहित्य का भी उतना ही महत्व होता है, जितना मूल सृजन का होता...
साहित्य

बुन्देलखण्ड विश्वविद्यालय में चल रहे सात दिवसीय राष्ट्रीय पुस्तक मेला का हुआ समापन

Just Bundelkhand
झांसी। बुंदेलखंड विश्वविद्यालय में चल रहे राष्ट्रीय पुस्तक मेला, अखिल भारतीय लेखक शिविर और राष्ट्रीय सेवा योजना के विश्वविद्यालय स्तरीय एकीकरण शिविर के समापन सत्र...
साहित्य

बुन्देलखण्ड विश्वविद्यालय में राष्ट्रीय पुस्तक मेला में सिनेमा और ओटीटी पर हुई चर्चा

Just Bundelkhand
झांसी. बुंदेलखंड विश्वविद्यालय में चल रहे राष्ट्रीय पुस्तक मेला और अखिल भारतीय लेखक शिविर के दूसरे दिन मुद्दों की चर्चा में ‘ओटीटी और सिनेमा’ मुद्दे...
साहित्य

बुंदेलखंड विश्वविद्यालय में राष्ट्रीय पुस्तक मेला 2024 की शुरुआत

Just Bundelkhand
झांसी। बुंदेलखंड विश्वविद्यालय में राष्ट्रीय पुस्तक मेला 2024, अखिल भारतीय लेखक शिविर, विश्वविद्यालय स्तरीय एकीकरण शिविर के उद्घाटन समारोह में मुख्य अतिथि झांसी मंडलायुक्त विमल...
साहित्य

बुंदेलखंड राष्ट्रीय पुस्तक मेला का आयोजन 15 से 21 मार्च तक

Just Bundelkhand
झांसी। बुंदेलखंड विश्वविद्यालय द्वारा आयोजित बुंदेलखंड राष्ट्रीय पुस्तक मेला और अखिल भारतीय लेखक शिविर का आयोजन विश्वविद्यालय परिसर में 15 – 21 मार्च को आयोजित...
साहित्य

बुंदेलखंड लिटरेचर फेस्टिवल में हिस्सा लेने झांसी पहुंचे हरिवंश

Just Bundelkhand
झांसी। ‘शांति के लिए भारतीय मूल्यों की ओर लौटना ही अंतिम विकल्प है। हमारे संस्कार, पूजा-पद्धति और जीवनशैली से बेहद सशक्त वातावरण बनता है। यही...
साहित्य

बुंदेलखंड लिटरेचर फेस्टिवल के दूसरे दिन स्थानीय ख्यात हस्तियों से हुआ संवाद

Just Bundelkhand
झांसी। बुंदेली माटी से निकले लोगों की धमक देश-दुनिया में बरकरार है। यहां के युवा हर इंडस्ट्री में अच्छा काम कर रहे हैं। ये बातें...
साहित्य

बुंदेलखंड लिटरेचर फेस्टिवल की शुरुआत, भारत के पद्मवीर पुस्तक का हुआ विमोचन

Just Bundelkhand
झांसी। बुंदेलखंड विश्व विद्यालय परिसर में शुरू हुए बुंदेलखंड लिटरेचर फेस्टिवल के पहले दिन भारत के पद्म पुरस्कार विजेताओं पर आधारित डा ओम शंकर गुप्ता...
साहित्य

झांसी में 1 मार्च से बुंदेलखंड लिटरेचर फेस्टिवल की हो रही शुरुआत

Just Bundelkhand
झांसी। बुंदेलखंड की कलात्मक और सांस्कृतिक छटा देशभर में बिखेरने का उत्सव बुंदेलखंड लिटरेचर फेस्टिवल वापस लौट रहा है। आगामी 1,2 और 3 मार्च को...
साहित्य

रणचंडी नाटक को पाठ्यक्रम में शामिल कराने के लिए सांसद अनुराग शर्मा ने सीबीएसई चेयरमैन को लिखा पत्र

Just Bundelkhand
झांसी। बुन्देलखण्ड कला प्रकोष्ठ के संरक्षक देवराज चतुर्वेदी के अनुरोध पर रंगभूषण राजेन्द्र उपाध्याय द्वारा लिखित नाटक रणचंडी को आईसीएससी-आईएससी और सीबीएसई पाठ्यक्रम में शामिल...