Justbundelkhand
विविध

क्रांतिकारी मास्टर रूद्र नारायण को पुण्यतिथि पर दी गई श्रद्धांजलि, डाक टिकट जारी करने की उठी मांग

झांसी. दैनिक जागरण में मास्टर रुद्रनारायण की पुण्य स्मृति पर प्रकाशित विशेष लेख से प्रेरणा लेकर अखिल भारतीय कायस्थ महासभा द्वारा झाँसी के लाल, सुप्रसिद्ध क्रान्तिकारी एवं समाज के गौरव मास्टर रूद्रनारायण की पुण्यतिथि का आयोजन मास्टर साहब के निज निवास टकसाल क्रांतिकारी मास्टर रुद्रनारायण मोहल्ला में किया गया.

कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुये वरिष्ठ पत्रकार मोहन नेपाली ने क्रान्तिकारी मास्टर रूद्रनारायण के जीवन के विभिन्न पहुलुओ पर प्रकाश डालते हुये भारत सरकार से मास्टर रूद्रनारायण पर डाक टिकट जारी किये जाने की मांग की.

मास्टर साहब पर श्रद्धासुमन अर्पित कर प्रान्तीय मंत्री प्रशांत सक्सेना ने अवगत कराया कि समाज के गौरव मास्टर रूद्रनारायण सुप्रसिद्ध मूर्तिकार एवं मझे हुये नाटककार भी रहे. मास्टर साहब की उत्कृष्ट मूर्तिकारी का उदाहरण आज भी श्री लक्ष्मीबाई व्यायामशाला, झांसी में स्थापित रानी लक्ष्मीबाई की विश्व की प्रथम प्रतिमा है जो स्वयं उन्होने 1942 मे तैयार की थी तथा 1945 में स्थापित की गयी.

श्रंद्धाजलि सभा में प्रान्तीय मंत्री आनन्द कुमार सक्सेना ने कहा कि धन्य है यह पावन स्थान जहाँ क्रन्तिकारी चन्द्रशेखर आजाद 3 वर्षो तक रहे तथा उन्ही की सहमति पर मास्टर साहब ने चन्द्रशेखर आजाद की पहली फोटो खीची जो देश की आजादी तक अंग्रेजों के हाथ नही लग सकी.

प्रान्तीय उपाध्यक्ष डॉ पुनीत श्रीवास्तव ने कहा कि हमारे देश का दुर्भाग्य है कि वर्तमान मे लक्ष्मी व्यायाम मंदिर मे स्थापित रानी लक्ष्मीबाई मूर्ति पर मूर्तिकार के नाम की पट्टिका अनेको-बार ध्यानाकर्षित कराये जाने के बाबजूद नही लगाई गयी है जो मास्टर साहब के कार्यो का अनादर है.

इस अवसर पर आरिफ शहडोली, इंजीनियर मयंक श्रीवास्तव ने शासन प्रशासन से मांग की कि आजादी की जंग के नींव के पत्थर मास्टर रुद्र नारायण की पुण्यतिथी पर सार्वजानिक अवकाश घोषित कर राष्ट्रीय कार्यक्रम आयोजित कराये जाये एवं झांसी सहित अन्य नगरो मे मास्टर साहब की प्रतिमाएँ प्रमुख स्थलो पर लगाई जाये.

मास्टर साहब के प्रपौत्र गौरव सक्सेना ने अपने बाबा के जीवन के विभिन्न अनछुये पहलुओ पर जानकारी उपलब्ध कराते हुये कहा कि समाज अब जाग उठा है. निश्चय ही हमारे देश के सरकार की निद्रा टूटेगी और महान क्रान्तिकारी मास्टर रूद्र नारायण को पूरा देश श्रद्धांजलि अर्पित कर उनके सपनो को साकार करेगा.

श्रद्धांजलि सभा में रामसनेही श्रीवास्तव, सुदर्शन शिवहरे, समीर खान, साकेत सक्सेना, अजीम शेख, विनोद खरे अक्षत सक्सेना आदि उपस्थित रहे. मास्टर साहब के पौत्र मुकेश सक्सेना बच्चन ने आनलाइन माध्यम से कार्यक्रम से जुड़कर श्रद्धान्जलि अर्पित की और सभी का आभार व्यक्त किया‌.

इस दौरान स्टार भारत पर प्रसारित बहुचर्चित धारावाहिक चन्द्रशेखर आजाद मे विशेष रूप से फिल्मांकित 12 एपिसोड मे मास्टर रूद्रनारायण के विशेष चित्रण का भी प्रदर्शन किया गया. कार्यक्रम का संचालन प्रसिद्ध रंगकर्मी आरिफ शहडोली ने किया और मास्टर साहब के प्रपौत्र गौरव सक्सेना व सारांश सक्सेना ने आभार प्रकट किया.

Related posts

बेरोजगारों की मदद के लिए सेवायोजन विभाग चला रहा सेवामित्र जागरूकता पखवाड़ा

Just Bundelkhand

कोविड के नए वैरिएंट के चलते रद्द हो सकता है झांसी महोत्सव मेला

Just Bundelkhand

झांसी के अटल एकता पार्क में बने पुस्तकालय में ई-लाइब्रेरी को जल्द शुरू करने की तैयारी

Just Bundelkhand

Leave a Comment